50+ Abraham Lincoln Quotes in Hindi – अब्राहम लिंकन के 51 अनमोल वचन

Abraham Lincoln /अब्राहम लिंकन Quotes in Hindi : अब्राहम लिंकन को अमेरिका के प्रभावशाली राष्ट्रपतियों में गिना जाता है। वह अमेरिका के 16वें राष्ट्रपति थे। उनका जीवन कड़े संघर्ष के बाद मिली सफलता की कहानी कहता है। अत्यधिक गरीबी से लेकर व्हाइट हाउस तक का सफर तय करने वाले लिंकन दो बार सीनेट के चुनाव में असफल हुए थे। इसलिए जिंदगी में कुछ पाना है तो हमें कभी हार न मानने वाली सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ना होगा, यह हमें लिंकन से सीखने को मिलता है।

Abraham Lincoln Quotes in Hindi

Name Abraham Lincoln /अब्राहम लिंकन
Born February 12, 1809(1809-02-12) Kentucky, U.S
Died April 15, 1865(1865-04-15) (aged 56) Washington, D.C., U.S.
Nationality American
Field Politics
Achievement 31 वे   साल  में  वो  Business में  fail हो  गया . 32 वें   साल   में  वो  state legislator का  चुनाव  हार  गया , 33 वें  साल  में  उसने  एक  नया  business try  किया   , और  फिर  fail हो  गया . 35 वें  साल  में  उसकी  मंगेतर  का  निधन  हो  गया . 36 वें  साल  में  उसका  nervous break-down हो  गया . 43 वें  साल  में  उसने  कांग्रेस  के  लिए  चुनाव  लड़ा  पर  हार  गया , 48 वें  साल  में  उसने  फिर  कोशिस  की  पर  हार  गया . 55 वें  साल  में  उसने  Senate के  लिए  चुनाव  लड़ा  पर  हार  गया , अगले  साल  उसने  Vice President के  लिए  चुनाव  लड़ा  पर   हार  गया .  59 वें  साल  में  उसने  फिर  से  Senate के  लिए  चुनाव  लड़ा  पर  हार  गया .  1860 में  वो  आदमी  जो  A. Lincoln sign  करता  था  अमेरिका  का  16 वाँ  राष्ट्रपति  बना .

अब्राहम लिंकन के अनमोल विचार –  Abraham Lincoln Quotes in Hindi

यदि आप एक बार अपने साथी नागरिकों का भरोसा तोड़ दें , तो आप फिर कभी  उनका सत्कार और सम्मान नहीं पा सकेंगे.

किसी  वृक्ष  को  काटने  के  लिए  आप  मुझे  छ:  घंटे  दीजिये  और  मैं  पहले  चार  घंटे  कुल्हाड़ी  की  धार  तेज  करने  में  लगाऊंगा . 
साधारण  दिखने  वाले  लोग  ही  दुनिया  के  सबसे  अच्छे  लोग  होते  हैं : यही  वजह  है  कि  भगवान  ऐसे  बहुत  से  लोगों का निर्माण करते हैं. 
अगर  शांती  चाहते  हैं  तो  लोकप्रियता  से  बचिए . 
शत्रुओं  को  मित्र  बना  कर  क्या  मैं   उन्हें  नष्ट  नहीं  कर  रहा ? 
हमेशा  ध्यान  में  रखिये  की  आपका  सफल  होने  का  संकल्प  किसी  भी  और  संकल्प  से  महत्त्वपूर्ण  है 
मैं  जो भी  हूँ  , या  होने की  आशा  करता  हूँ , उसका  श्रेय   मेरी  माँ  को  जाता  है . 

अगर  कुत्ते  की  पूँछ  को  पैर  कहें , तो  कुत्ते  के  कितने  पैर  हुए ? चार . पूछ  को  पैर  कहने  से  वो  पैर  नहीं  हो  जाती .

प्रजातंत्र  लोगों  की , लोगों  के द्वारा , और  लोगों  के  लिए  बनायीं  गयी  सर्कार  है . 
औरत  ही  एक  मात्र  प्राणी  है  जिससे  मैं  ये  जानते  हुए  भी  की  वो  मुझे  चोट  नहीं  पहुंचाएगी , डरता  हूँ . 
मित्र  वो  है  जिसके  शत्रु  वही  हैं  जो  आपके शत्रु  हैं . 
मैं नहीं जानता मेरे दादाजी कौन थे, मेरा सारा ध्‍यान यह जानने में है की उनका पोता क्‍या होगा। 

मैं अपने बारे में ये कहलाना पसंद करूँगा की जहाँ भी मुझे लगा की यहाँ फूल विकसित हो सकते हैं मैंने हमेशा झाडियों और कांटेदार पौधों को उखाड़कर फूलों को बोया है।

अगर आपको कोई महत्‍व नहीं देता है तो चिंता कीजिए, पर महत्‍व प्राप्‍त करने के लिए कोशिश जारी रखिए। 
बैलट, बुलेट से ज्‍यादा शक्तिशाली है। 
उस व्‍यक्ति को आलोचना करने का अधिकार है, जो सहायता करने की भावना रखता है। 
कुछ लोगो के द्वारा प्राप्‍त की गई महान सफलता इस बात का प्रमाण है की बाकी सारे लोग भी इसे प्राप्‍त कर सकते है। 
जिस प्रकार मैं एक गुलाम नहीं बनना चाहता, उसी प्रकार मैं किसी गुलाम का मालिक भी नहीं बनना चाहता। 
हमेशा अपने दिमाग में यह बात बैठाकर रखे की सफलता के प्रति आपका अपना दृष्टिकोण सबसे महत्त्वपर्ण है बजाय दुसरो के। 

आप सभी लोगों को कुछ समय तक और कुछ लोगों को हर समय धोखा दे सकते हो लेकिन आप सभी लोगों को हर समय धोखा नहीं दे सकते।

शादी ना तो स्‍वर्ग है ना नर्क है यह तो केवल यातना है। 
चरित्र एक पेड़ की तरह है और इज्‍ज़त एक परछाई की तरह है। हम परछाई के बारे में सोचते हैं। जबकि पेड़ असली विषय है। 
मेरा हमेशा से मानना रहा है कि कड़ी सजा की तुलना में दया ज्‍यादा फलदायक सिद्ध होती है। 
सच्‍चा दोस्‍त वो है जो मुझे ऐसी किताब लेकर दें, जो मैने अभी तक नहीं पड़ी। 
मुझे अधिक संबंध इस बात से नहीं है कि आप असफल हुए, बल्कि इस बात से कि आप अपनी असफलता से कितने संतुष्‍ट हैं। 
हमें नयी परिस्थितियों में नयी सोच के साथ आगे बढ़ना चाहिए। तभी हम सफलता प्राप्‍त कर सकते है। 
मेरी चिन्‍ताय ये नही है की भगवान मेरे साथ है या नहीं। मेरी चिंता ये है की मै भगवान के साथ हूं या नहीं। क्‍योंकि भगवान हमेशा सही होता है। 
विद्यालय के कमरे की एक पीढ़ी के सिद्धांत अगली सरकार के सिद्धांत होंगे। 
यह महत्‍व नहीं रखता कि आपके जीवन में कितने साल हैं ब‍ल्कि यह मायने रखता है कि आपके साल कितने जीवंत हैं। 
जो लोग दूसरों को आज़ादी देने से इनकार करते हैं वह खुद भी इसके योग्‍य नहीं हैं। 
मैं एक धीमी गति से आगे चलता जरूर हूँ, लेकिन कभी पीछे वापस नहीं आता। 

जब मैं अच्‍छा करता हूँ, मुझे अच्‍छा लगता है। जब मैं बुरा करता हूँ, तो मुझे बुरा लगता है, यही मेरा धर्म है।

चुप रहकर मूर्ख लगना अच्‍छा है बजाय इसके कि आप बोलें और सारे शक दूर कर दें। 
आप आज टाल-मटोल करके कल की जिम्‍मेदारियों से भाग नहीं सकते। 
किसी भी व्‍यक्ति के चरित्र और साहस का निर्माण आप उसके पहल और स्‍वतंत्रता को छीन कर नहीं कर सकते हैं। 
यदि आप एक बार अपने साथी ना‍गरिकों का भरोसा तोड़ दें, तो आप फिर कभी उनका सत्‍कार और सम्‍मान नहीं पा सकेंगे। 
जैसा की हमारी परिस्थितिया नयी हैं, हमें विचार करना चाहिए और तरीके से काम करना चाहिए 
मैं जीतने के लिए प्रतिबद्ध नहीं हूँ लेकिन मैं सही और सच्‍चे होने के लिए प्रतिबद्ध हूँ। 
मेरे पास कभी एक निती नही थी, मैने तो बस हर दिन अपना सर्वश्रेष्‍ठ करने की कोशिश की। 
तुम जो भी हो, नेक बनो। 
निश्चित कर लो कि तुम्‍हारे पैर सही जगह पर पड़े हैं तब सीधे खड़े हो। 

ज्‍यादातर लोग उतने ही खुश रहते हैं जितना वो अपने दिमाग में तय कर लेते हैं।

अगर आप किसी भी व्‍यक्ति के अन्‍दर बुराई खोजने की इच्‍छा से देखते हैं तो आपको जरूर मिल जाएगी। 
मित्र वो है जिसके शत्रु वही है जो आपके शत्रु है। 
लगभग सभी लोग गरीबी से जूझ सकते हैं, लेकिन अगर आप किसी के चरित्र का परिक्षण करना चाहते हैं तो उसे शक्ति दीजिये। 
किसी वृक्ष को काटने के लिए आप मुझे छ: घंटे दीजिये और मैं पहले चार घंटे कुल्‍हाड़ी की धार तेज करने में लगाऊंगा। 
अगर कोई भी काम कोई व्‍यक्ति अच्‍छे से कर सकता है, तो मैं कहूँगा उसे करने दीजिये। उसे एक मौका दीजिये। 
औरत ही एक मात्र प्राणी है जिससें मैं ये जानते हुए भी की वो मुझे चोट नहीं पहुंचाएगी, फिरभी डरता हूँ। 
साधारण दिखने वाले लोग ही दुनिया के सबसे अच्‍छे लोग होते हैं। यही वजह है कि भगवान ऐसे बहुत से लोगों का निर्माण करते हैं। 
प्रजातंत्र लोगों की, लोगों के द्वारा, और लोगों के लिए बनायीं गयी सरकार है। 
अगर कुत्ते की पूँछ को पैर कहें, तो कुत्ते के कितने पैर हुए? चार। पूछ को पैर कहने से वो पैर नहीं हो जाती। 
हमेशा ध्‍यान में रखिये की आपका सफल होने का संकल्‍प किसी भी और संकल्‍प से महत्त्वपूर्ण है। 
दुनिया में किसी भी व्‍यक्ति के पास सफल झूठ बोलने वाला होने के लिए स्‍मरण शक्ति नहीं है। 
शत्रुओं को मित्र बनाकर क्‍या मैं उन्‍हें नष्‍ट नहीं कर रहा? 
कुछ करने की इच्‍छा वाले व्‍यक्ति के लिए इस दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है। 
अगर पहले हम ये जान लें की हम कहाँ पर हैं और हम किस दिशा में जा रहे हैं, तो हमें क्‍या और कैसे करना चाहिए इसका बेहतर निर्णय कर सकते हैं। 
अगर शांती चाहते हैं तो लोकप्रियता से बचिए। 
एक नौजवान व्‍यक्ति को आगे बढ़ने के लिए उसे हर संभव तरीके से अपना विकास करना चाहिए, ऐसा कभी नहीं शक करना चाहिए की कोई उसके रास्‍ते में रूकावट हो सकता है। 
भविष्‍य की सबसे अच्‍छी बात यही है कि वह एक दिन जरूर आता है। 
व्‍यक्ति की कार्यविधि कुछ सीमा तक परिवर्तित हो सकती है, परन्‍तु उसकी प्रकृति परिवर्तित नहीं हो सकती। 
मैं Prepare करूगां और कभी न कभी मेरा भी Chance आयेगा। 
यदि यह कोफी है तो कृप्‍या मेरे लिए थोड़ी चाय लाना, परन्‍तु यह चाय है तो कृप्‍या मेरे लिए थोड़ी कोफी लाना। 
यदि आप किसी को अपने मकसद के लिये जितना चाहते हो तो पहले उसे यह Convince करो की तुम उसके एक ईमानदार दोस्‍त हो। 

मुझे आशा है आपको ये Abraham Lincoln Quotes in Hindi, thoughts का collection पसंद आयेगा, और अगर आपको अब्राहम लिंकन के अनमोल विचार पसंद आयें. तो इन्हें facebook जैसी सोशल मीडिया साइट्स पर जरुर शेयर करे. धन्यवाद !

 

Leave a Reply