Cool WhatsApp Status in Hindi

 

Sun rha hai na tu ro rha hu main. 
Teri yad satati hai… mujko rulati hai. 
Aksar chirag wohi bhujate h … jo pehle usse rosan karte hai 
Fiqr kar uski jo teri fiqr kare, yu to zindgi me bhut hai hamdard. 
Hum tere bina ab reh nahi sakte tere bina kya wajood mera. 
Pyar or waar mein sab jayaz hain 
Life is too short to waste on hating other people. 
Dil ko zubaan, aankhon ko sapne mil gaye. 
SUCCESS is depends on 2nd letter. 
Main marne ke liye nahi peeta … peene ke liye marta hu. 
Distance doesn’t matter in true love. 
Salo lag jate pyar wale jakham bharne mein. 
Koyi mujhko yu mila hain jaise banjaare ko ghar. 
मुजे कोइ ऐसी जगह ले चलो जहा रहु सिर्फ मे और मेरी तन्हाई 
मोहब्बत ख़ूबसूरत होगी किसी और दुनियाँ में इधर तो हम पर जो गुज़री है हम ही जानते हैं 
साथी तो मुझे अपने सुख के लिए चाहिए दुखों के लिए तो मैं अकेला काफी हूँ….. 
इतने कहाँ मशरूफ हो गए हो तुम, आजकल दिल दुखाने भी नहीं आते 
यू पलटा मेरी किस्मत का सितारा मेरे दोस्तो उसने भी छोड़ दिया और अपनों ने भी 
वाकिफ़ है वो मेरी कमज़ोरी से…! वो रो देती है, और मैं हार जाता हूँ 
मैने सिखी नही कोई शायरी महफिलों मे जाकर ! हालात अक्सर दर्द सहना सिखा देते है 
मुश्किल होता है जवाब देना. जब कोई खामोश रह करभी सवाल कर लेता है! 
Bahut gurur tha sbko apni daulat pe.. zara sa zameen kya hili sb aukat me aa gye.. 
दुआ कभी खाली नही जाती, बस लोग इंतजार नही करते.. 
जिसे आज मुजमे हजार एब नजर आते हे, कभी वही लोग हमारी गलती पे भी ताली बजाते थे !! 
दिन ऐसे गुजारो की रात को चैन से सो सको.. और रात ऐसी गुजारो की सुबह खुद से नजरे मिला सको 
देखना.. एक दिन बदल जाऊगा पूरी तरह मैं तुम्हारे लिए न सही.. लेकिन… तुम्हारी वजह से ही सही..!! 
देखकर तुमको अकसर हमें एहसास होता है कभी कभी ग़म देने वाला भी कितना ख़ास होता है. 
दुनिया को इतना सीरियस लेने की जरुरत नहीं, यहाँ से कोई जिन्दा बच के नहीं जाएगा. 
दुआ कभी खाली नही जाती, बस लोग इंतजार नही करते. 
नाम और बदनाम में क्या फर्क है ? नाम खुद कमाना पड़ता है,और बदनामी लोग आपको कमा के देते हैं! 
सोने के जेवर ओर हमारे तेवर लोगो को अक्सर बहोत मेंहगे पडते हे. 
ढूंढ़ रहा हु लेकिन नाकाम हु अभी तक, वो लम्हा जिस में तुम याद ना आये, 
तरक्की की फसल, हम भी ‘काट’ लेते… थोड़े से तलवे, अगर ‘हम’ भी चाट लेते. 
तेरी मोहब्बत पर मेरा हक़ तो नही मगर.. जी चाहता है क़ि आखिरी सांस तक तेरा इन्तजार करू..!! 
तेरे ही नाम से ज़ाना जाता हूं मैं, ना जाने ये शोहरत है या बदनामी. 
तुम वादा करो आखरी दीदार करने आओगे, हम मौत को भी इंतजार करवाएँगे तेरी ख़ातिर, 
बात इतनी सी थी कि तुम अच्छे लगते थे, अब बात इतनी बढ़ गई है कि तुम बिन कुछ अच्छा नहीं लगता!!! 
बेमतलब की जिंदगी का सिलसिला ख़त्म..!अब जिसतरह की दुनियां, उस तरह के हम 
मंदिर भी क्या गज़ब की जगह है! गरीब बाहर भीख मांगते हैं, और अमीर अन्दर. 
मालुम था कुछ नही होगा हासिल लेकिन… वो इश्क ही क्या जिसमें खुद को ना गवायाँ जाए. 
मैंने समुन्दर से सीखा है जीने का सलीका, चुपचाप से बहना और अपनी मौज में रहना. 

Leave a Reply