Cool WhatsApp Status in Hindi

नमक की तरह हो गयी है जिंदगी, लोग स्वादानुसार इस्तेमाल कर लेते हैं 
कुछ लोग खुदको शेर समजते हैं…। मगर हम वो इन्सान है…। जो शेरो को भी कुत्ते जैसे घुमाते है 
बदल गया है जमाना पहले माँ का पेर छू कर निकलते थे, अब मोबाइल की बेटरी फुल करके निकलते है. 
उनसे कहना की किस्मत पे इतना नाज़ ना करो.! हमने बारीश में भी,जलते हुए मकान देखे हैं.! 
इसी बात से लगा लेना मेरी शोहरत का अन्दाजा.. वो मुझे सलाम करते है, जिन्हे तु सलाम करता हैं 
हम मशहुर होने का दावा तो नही करते… मगर..जिसे भी आखँ भर कर देख लेते है उसे उलझन मे जरुर डाल देते है 
जिंदगीमें बडी शिद्दत से निभाओ अपना किरदार, कि परदा गिरने के बाद भी तालीयाँ बजती रहे 
ज़हासे तेरी बादशाही खत्म होंती हे, वहासे मेरी नवाबी सुरु होती हे 
नफरतों को जलाओ… मुहब्बत की रौशनी होगी… इंसान तो जब भी जले… राख ही हुऐ 
आपकी घड़ी कितनी भी कीमती हो, वक़्त तो ऊपर वाले के हिसाब से चलता है. 
तू पटाखा है किसी और का, तुझे फोड़ता कोई और है. 
इन्कार है जिन्हे आज मुझसे मेरा वक्त देखकर,मै खूद को इतना काबील बनाउंगा वो मिलेंगे मूझसे वक्त लेकर! 
सुधरी हे तो बस मेरी आदते… वरना मेरे शौक.. वो तो आज भी तेरी औकात से ऊँचे हैं…!!! 
हुकुमत वो ही करता हे जिसका दिलो पर राज होता हे !!!! वरना यू तो गली के मुर्गो के सिरो पे भी ताज होता हे … 
अगर जींदगी मे कुछ पाना हो तो तरीके बदलो, ईरादे नही.. 
वो आईना देख मुस्कुरा के बोली… बेमौत मरेगा मुझ पर मरने वाला. 
खरीद लेंगे सबकी सारी उदासियाँ दोस्तों ! सिक्के हमारे मिजाज़ के, चलेंगे जिस रोज  
दिमाग कहता है मारा जायेगा लेकिन दिल कहता है देखा जाएगा 
प्यार करता हु इसलिए फ़िक्र करता हूँ, नफरत करुगा तो जिक्र भी नही करुगा 
Dekh Babe, नमक स्वाद अनुसार और अकड़ औकाद अनुसार ही अच्छी लगती है 
हम जैसे सिरफिरे ही इतिहास रचते हैं !समझदार तो केवल इतिहास पढ़ते हैं !! 
नाम इसलिए उँचा हैं..हमारा… क्योंकि……हम ‘बदला लेने की नही ,’बदलाव लाने, की सोच रखते हैं. 
जीत हासिल करनी हो तो काबिलियत बढाओ । किस्मत की रोटी तो कुत्तों को भी नसीब हो जाती है 
हमारे जीने का तरीका थोड़ा अलग है,हम उमीद पर नहीं अपनी जिद पर जीते है 
आदत नई हमे पीठ पीछे वार करने की !!दो शब्द काम बोलते है पर सामने बोलते है !! 
पाना है मुक्काम ओ मुक्काम अभी बाकी है अभी तो जमीन पै आये है असमान की उडान बाकी है ! 
अकड़ती जा रही हैं हर रोज गर्दन की नसें, आज तक नहीं आया हुनर सर झुकाने का . 
Attitude तो बचपन से है, जब पैदा हुआ तो डेढ़ साल मैंने किसीसे बात नही की । 
वो लाख तुझे पूजती होगी मगर तू खुश न हो ऐ खुदा.. वो मंदिर भी जाती है तो मेरी गली से गुजरने के लिए.. 
भीङ में खङा होना मकसद नहीं हैं मेरा ,बलकि भीङ जिसके लिए खडी है वो बनना है मुझे  

I Hope you all like these huges collection of cool whatsapp status in Hindi. SHare this huge whatspp status collection with your friends on facebook and twitter.

Leave a Reply