15 August Independence Day Shayari In Hindi

मैं भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ, मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की, तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ। 
आन देश की शान देश की,
देश की हम संतान हैं,
तीन रंगों से रंगा तिरंगा,
अपनी ये पहचान है! 
विकसित होता राष्ट्र हमारा,
रंग लाती हर कुर्बानी है
फक्र से अपना परिचय देते,
हम सारे हिन्दोस्तानी है | 
गंगा यमुना यहाँ नर्मदा,
मंदिर मस्जिद के संग गिरजा
शांति प्रेम की देता शिक्षा ,
मेरा भारत सदा सर्वदा… 
चड़ गये जो हंसकर सूली;
खाई जिन्होने सीने पर गोली;
हम उनको प्रणाम करते हैं!
जो मिट गये देश पर;
हम सब उनको सलाम करते हैं!
स्वतंत्रता दिवस की बधाई! 
आओ झुक कर सलाम करे उनको;
जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है;
खुशनसीब होता है वो खून
जो देश के काम आता है! 
वतन हमारा ऐसा कोई ना छोड पाये ,
रिश्ता हमारा ऐसा कोई न तोड़ पाये ,
दिल एक है जान एक है हमारी ,
हिन्दुस्तान हमारा है यह शान हैं हमारी। 
आओ देश का सम्मान करें,
शहीदों की शहादत को याद करें,
एक बार फिर से राष्ट्र की कमान,
हम हिन्दुस्तानी अपने हाथ धरे,
आओ स्वंतंत्र दिवस का सम्मान करें! 
तलवार उठाने से पहले तुम इसीलिए
मिट जाने वालों का गौरव गान करो ||
आरती सजाने से पहले तुम इसीलिए ,
आजादी के परवानो का सम्मान करो|| 
नफरत बुरी है, न पालो इसे,
दिलो में खालिश है, निकालो इसे,
न तेरा, न मेरा, न इसका, न उसका
ये सबका वतन है, संभालों इसे!
स्वतंत्रा दिवस की बधाई! 

वतन हमारा मिसाल मोहब्बत की
तोड़ता है दीवार नफरत की,
मेरी खुशनसीबी कि मिली
ज़िन्दगी इस चमन में,
भुला न सके कोई
इसकी खुशबू सातों जनम में,

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस की बधाई

ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता ,
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता 

रात के अंधियारे में ,
जब तक रुतबा रहेगा चाँद का ,
कारगिल की चोटियों पर ,
तब तक फैरता रहेगा तिरंगा शान का .
धरती क्या आसमान में ,
डंका बजेगा हिंदुस्तान नाम का..!

Leave a Reply